Topics
Back

Communalism Free India

Leave a Comment:

368 Comments to “Communalism Free India”

  1. ISKI SHURUAAT VIDYALAYO SE KARNA CHAHIYE AUR PURI SAKHTATA KE SATH JATI, DHARM AND COMMUNITY SUCHAK JO BHI SUCHANAYE MANGI JATI HAI US PAR ROK LAGANI CHAHIYE…

  2. Each and every individual is special and important ….we should not believe in particular communities….people are important not the cummunities…..development is important not the divisions……we believe in unity

  3. हमारी प्रधान मंत्री जी से एक गुज़ारिश हैं की वह थोड़ा उन लावारिस बच्चों पर भी ध्यान दे जो बच्चे रास्तों, गली, चौराहे और रेड लाइट व अन्य जगहों में भीख मांगते फिरते हैं कृपया करके उनकी भी थोड़ी मदद करे हम भी चाहते हैं की हम उनके लिए कुछ करे किन्तु नहीं कर पाते क्योंकि उन बच्चों की मदद के लिए हमारे पास पर्याप्त मात्रा में धन नहीं है जिससे की हम उनकी थोड़ी सी मदद कर सके। धन्यबाद

  4. Communialsm is became a panic and out of peoples odd mindset and sentiment causes out of imbalance emotional tendencies.communialism is a social issue and can be stopped out of people consciousness ,participation in national curriculum and support for a constructive feedback on national flow . tension and unrest causes the threat to national developmental trend and integrity.join hands let’s together stop communialism or communial feeling,transformation in to a constructive nation built on progressive ops.

  5. We support you and your organization in moving ideas to action by establishing effective processes and helping develop leaders.
    ASHUTOSH DUBEY PUBLIC AFAFIR ADVISOR

  6. We the people of India do pledge & stand up with you at least for 3 consecutive terms for the great massive transformations & for a total overhauling of the administration & political bottlenecks in the system…

  7. सर् मेरा आपसे निवेदन है कि प्राइवेट स्कूलों में डोनेशन,फीस,ओर बुको के नाम पर खुली लुट मची हुई है जिस कारण से मध्यम घर का लड़का प्राइवेट स्कूल में एड्मिसन नही ले पाता है इन स्कूलों के ऊपर आपको लगाम लगानी चाहिए सर सरकार द्वारा बनाई गई बुक 200 से 250रुपये तक मे बाहर बुक स्टोर से मिल जाती है लेकिन स्कूल के अंदर से जो बूके देते है वो 1500 से 2000 रुपये तक कि देते है स्कूल के अंदर देने वाली पुस्तको पर खुले आम लुट मची हुई है जिससे मध्यम वर्ग के लोग मायुस हो जाते है इनके ऊपर सख्त करवाई की आवश्यकता है जिससे हमारा देश ओर उन्नति करेगा
    पढ़ेगा इंडिया बढेगा इंडिया जय हिंद जय भारत

  8. हमारी प्रधान मंत्री जी से एक गुज़ारिश हैं की वह थोड़ा उन लावारिस बच्चों पर भी ध्यान दे जो बच्चे रास्तों, गली, चौराहे और रेड लाइट व अन्य जगहों में भीख मांगते फिरते हैं कृपया करके उनकी भी थोड़ी मदद करे हम भी चाहते हैं की हम उनके लिए कुछ करे किन्तु नहीं कर पाते क्योंकि उन बच्चों की मदद के लिए हमारे पास पर्याप्त मात्रा में धन नहीं है जिससे की हम उनकी थोड़ी सी मदद कर सके। धन्यबाद

  9. Shayad ham let ho gaye par chup baithane wal nahi hu dosiyo ko saja delvake nahi de ke rahunga

  10. One INDIA Great INDIA.
    Unity is strength. So no space for communalism.
    Be the part of development & say proudly I’m INDIAN.

  11. जो सत्य हे उसे कोई मिटा नही सकता सत्य बहुत ही जल्दी सामने आने वाला है जय हो बिजय हो जय हिंद जय भारत माता की जय हो

  12. Sankalp hai Mera Bharat mahan sabko melee man Dammam,hum Sab ek hai,hum hai Hindustani.

  13. Each and every individual is special and important ….we should not believe in particular communities….people are important not the cummunities…..development is important not the divisions……we believe in unity…

  14. If we love our society and live for our society,the society itself would be free of communal malice.

  15. Let us make India liveable; where everyone can breathe freely
    work towards development and environment
    so the future generation can thrive and not suffocate