Topics
Back

Terrorism Free India

Leave a Comment:

502 Comments to “Terrorism Free India”

  1. माफ किजीऐ मेरी पोस्ट मे 25 करोड रुपये के बजाय 25000 करोड रुपये टाईप किये गये

  2. मोनो,मेट्रो,ओ.एन.जी.सी,महापालीका,महाराष्ट्र सदन,विमानतळ,सरकारी कार्यालय और हाँस्पताल जैसे संवेदनशिल जगहो पर तैनात किया जैसे कि आज दिल्ली मेट्रो में सीआई एस एफ है! विषय यह है कि जो सुरक्षा करनेवाला जवान को खुदही आर्थीक स्तर,कानुनी स्तर और शारीरीक स्तर पर कमजोर हो वह सुरक्षा कार्य समाधानी से सावधानी से पुरा नही हो सक्ता !खाजगी सुरक्षा बोर्ड पर प्रतीबंध लगाकर महाराष्ट्र के सभी खाजगी सुरक्षा बोर्ड एजंसी,कंपनी का विलनीकरण सुरक्षा महामंडल मे होना अनिवर्य था.क्यु कि वहापर भी सुरक्षा रक्षको पर अन्याय हो रहा है ! वैसा हुवा नही यह दो स्तर थे संवेदनशिल ठिकाणो कि सुरक्षा और उससे निचले स्तर कि सुरक्षा आज भी महाराष्ट्र सरकार महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा महामंडल और महाराष्ट्र सुरक्षा बल दोनो कि व्यवस्था में सुधार नही कर पाई क्यु ? ईसका जबाब कौन देगा ? कल अगर ईन संवेदनशील ठिकानो पर कहीसे अचानक आतंकवादी हमला हुवा तो ईसका जिंमेदार कौन ? आप ,मै,या हमारी सरकार ?

  3. नमस्कार.. आतंकवाद को रोकने के लिये हमे समाज के आर्थीक स्तर पर समानता लानी होगी क्युकी जो व्यक्ती/वर्ग समाज मे रहतकर आर्थीक,राजकीय,सामाजीक स्तर पर दुखी होता है कही ना कही वो देश मे बुराई फैलाने जैसे कदम उठाता है क्युकी उससे उस व्यक्ती आर्थीक लाभ होता है और जिन वर्ग ने उसे गरीबी और पिडीत खाई मे डकेला है वह उसका विरोधी बन जाता है! दुसरी बात है अतंकवाद से अपने देश कि रक्षा कि ईसके लिऐ भ्रष्टाचार जैसे महाराक्षस को मिटाना बहोत ही जरुरी है देश मे हर क्षेत्र मे हो रहा हेै!और तो और सुरक्षा जैसे विषय में भी उदा. मुंबई मे 26/11 के हमले के बाद बेसीक और स्थायी सुरक्षा के लिऐ महाराष्ट्र में महाराष्ट्र मे महाराष्ट्र औद्योगीक दल स्थापन करने कि तरतुद केंद्रिय रामप्रधान समिती ने निर्धारीत कि थी और उसके लिए 25000 करोड रुपये भी मंजुर थे लेकिन औद्योगीक दल स्थापीत होने के बजाय सुरक्षा महामंडळ ने भारतीय राजमुद्रा सहित सी.आई.एस.एफ समान वर्दि देकर महाराष्ट्र सुरक्षा बल निर्माण किया कंत्राटि स्वरुप में और पुराने हथीयार देकर कम वेतन,कम प्रशिक्षण,देकर तैनात किऐ गऐ!